Bhoutik vigyan classe 12

आवेश किसे कहते हैं तथा आवेश के प्रकार(aavesh kise kahate hain tatha aavesh ke prakaar )|| क्लास 12 भौतिक विज्ञान

आवेश किसे कहते हैं तथा आवेश के प्रकार(What is a charge and the type of charge )|| क्लास 12 भौतिक विज्ञान




अब इसको अच्छी तरह से समझने के लिए मैंने आपको एक उदाहरण दिया है वह उदाहरण से आप बहुत ही अच्छी तरह से समझ पाएंगे

आवेश का प्रयोग द्वारा सत्यापन: 

सर्वप्रथम हम कांच की छड़ को लेते हैं तथा दोनों छोड़ो को हम दो काट के छल्ले तोहर दोनों छड़ों को रेशम के कपड़े पर रगड़ना शुरु कर देते हैं तो एक दूसरे के पास ले जाते हैं रगड़ने के बाद तो यह एक दूसरे से दूर जाने का प्रयास करती हैं अब इसका मतलब यह है कि इसमें पढ़कर लगता है इसमें प्रति आगे आ जाता है

उपयुक्त उदाहरण द्वारा समझें:

ठीक इसी प्रकार लेते हैं और बिल्ली की खाल से रगड़ता हैं तब रगड़ने के बाद जब एवरनाइट के छठ को एक दूसरे के समीप ले जाते हैं तो वह एक दूसरे से दूर हटती हैं जिस तरह से रेशम रगड़ने पर कांच का छठ एक दूसरे से दूर हट तिथि

उसी तरह एकोनाइट का छठ बिल्ली की खाल से रगड़ने पर एबो नाइट छड़ को समीप ले जाने पर एक दूसरे से दूर भागते हैं इसका मतलब यह होता है कि दोनों नाइट पिछड़ों पर

समान आवेश उत्पन्न होता है और जब समान आवेश रहता है तो वहां पर प्रकृति बल लगता है जैसे केवल अगर धन आवेश दोनों छठ पर है तो वह एक दूसरे को पढ़कर से करेंगे या अगर दोनों छठ – आवेशित है तब अभी एक दूसरे को प्रतिकर्षण ही



करेंगे हमारे कहने का मतलब है जब आवेश एक समान रहता  है है तब उसने प्रतिकर्षण बल लगता है लेकिन जब आवेश

अलग अलग रहता है धन आवेश तथा ऋण आवेश अलग अलग रहता है तो उस में आकर से बल लगता है जिसको प्रयोगों द्वारा समझा जा सकता है

यदि हम कांच की छड़ को रेशम के कपड़े पर रगड़ कर तथा कोई दूसरा ईबोनाइट का छड़ बिल्ली के खाल पर रगड़ ते हैं अब हम कांच के छठ और ईबोनाइट के छठ को एक दूसरे के समीप ले जाते हैं तो वहां पर आकर्षी बल काम करता है वहां

पर दोनों एक दूसरे को अपनी तरफ खींचते हैं तो यहां पर दो अलग-अलग का आवेश था इसलिए वह एक दूसरे को आकर्षित करते हैं

आवेश की परिभाषा:

मुझे किसी बिंदु पर हम एवरनाइट के छल्ले जाते हैं और हमें वहां पर आकर्षी  या प्रतिकर्षण बल का अनुभव कराया जाता है उसे आवेश कहते हैं

आवेश के प्रकार: 

ऊपर प्रयोगों द्वारा हमें ज्ञात हो गया आवेश दो प्रकार के होते हैं

1. धन आवेश तथा

2.ऋण आवेश

जैसा कि ऊपर आपने प्रयोगों में देखा कि जब बिल्ली के खाल से ईबोनाइट का दो छड़ रगड़ा जाता है तो उसमें अरे आत्मक आवेश उत्पन्न हो जाता है लेकिन जब बेंजामिन फ्रैंकलिन ने कांच की छड़ को रेशम के कपड़े पर रगड़ा तो उसमें धन

आवेश उत्पन्न हुआ तथा उन्होंने बताया कि यह धन आवेश है जब एक धन आवेश है तो दूसरा अपने आप ही पता चल जाता है कि ऋण आत्मक आवेश है

अतः इसे सीधे सीधे में कहें तो धनात्मक धनात्मक आवेश एक दूसरे को प्रदर्शित करते हैं तथा ऋण आत्मक ऋण आत्मक आवेश एक दूसरे को भी प्रतिकृति करते हैं लेकिन जब धनात्मक और ऋण आत्मक रहता है तब वह एक दूसरे



को आकर्षित करते हैं एक दूसरे को अपनी तरफ खींचते हैं यही आवेश का गुण होता है आकर्षी और प्रतिकृति

चलिए हम आपको बताते हैं कि पदार्थ में आखिर धन आवेश या ऋण आवेश उत्पन्न होने का क्या कारण है या क्यों उत्पन्न होता है

पदार्थ का धन आवेश या ऋण आत्मकहोने का कारण:

हम सभी जानते हैं कि प्रत्येक द्रव्य पदार्थ परमाणुओं से

milkerबना होता है तथा prmaanu nabhik में इलेक्ट्रॉन (-) se milker  बना होता है”

“pramanu के नाभिक में protaan (+ ) प्लस तथा newtraan जीरो”

“(0)से milkar बना होता है  protaan धन आवेशित ( +) electron (-) तथा न्यूट्रॉन udaseen होता है”

सामान्य अवस्था  में परमाणु में इलेक्ट्रॉन तथा प्रोटोन की संख्या बराबर तो होती है अर्थात धन आवेश और ऋण आत्मक बराबर मात्रा में होते हैं जैसे परमाणु याद रख उदासीन अन आवेशित अवस्था में होता है यदि किसी प्रयोग द्वारा द्रव इलेक्ट्रान त्याग देता है तो उस पर प्रोटीन प्लस की



संख्या अधिक हो जाती है जैसे पदार्थ धन आवेशित हो जाता है इसी प्रकार यदि पदार्थ इलेक्ट्रान( -) ग्रहण कर लेता है तो उस पर ऋण आत्मक अधिक हो जाताा है

जब कांच के छठ को रेशम से रगड़ा गया तो कांच की छड़ रेशम के कपड़े को इलेक्ट्रान त्याग देते हैं यानी आज का छठ इलेक्ट्रान दे देता है अतः धन आवेशित हो जाती है ठीक इसी प्रकार एवरनाइट की छड़ को बिल्ली की खाल से रगड़ा गया

तो एवरनाइट कीचड़ इलेक्ट्रॉन ग्रहण कर लेती है अतः यह ऋण आत्मक हो जाती है

तो दोस्तों जैसा कि आप देख सकते हैं कि मैंने अभी कुल अपनी ही भाषा मेंआपको बताया है आप चाहे और भी पढ़ सकते हैं और पढ़ने के लिए आपको नीचे भी मिल जाएगा या

आप ऊपर मीनू पर जा करके अपना सब्जेक्ट या हेडिंग चुन सकते हैं आप वहां से अच्छे से पढ़ सकते हैं मैं यहां पर अच्छे-अच्छे नोट्स क्लास 12 10 11 के लिए पुट अप करता रहता हूं

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button