Bhoutik vigyan classe 12

चुंबकीय क्षेत्र के किसे कहते है (What is a magnetic field called ) परिभाषा , si मात्रक , विमीय सूत्र

चुंबकीय क्षेत्र के किसे कहते  है  (What is a magnetic field called ) परिभाषा , si मात्रक , विमीय सूत्र

चुंबकीय क्षेत्र के परिभाषा क्या है
“ऐसा क्षेत्र जिसमें kise बिंदु(point) पर रखी गई चुंबकीय सुई एक निश्चित disha में रुकती है जिसे चुंबकीय क्षेत्र कहां जाता है” तथा चुंबकीय सुई जिस दिशा में घूमकर रुकती है उसे चुंबकीय क्षेत्र की दिशा कहते हैं”


चुंबकीय क्षेत्र एक  sadish राशि होती है जिसको B से प्रदशित  किया जाता है जिसका si मात्रक वेबर/वर्गमीटर होता है अथवा इसका si मात्रक (T) टेस्ला भी होता है यह भी एक बहुत बड़ा matra  है तथा इसकी बीमा सूत्र यानी कि (विमीय सूत्र) m1L0T-2A-1  होता है
चुम्बकीय क्षेत्र में रखी हुई सुई उस Bindu par चुम्बकीय क्षेत्र बताती है या प्रदर्शित करती है
आसमान चुंबकीय क्षेत्र में दिशा अलग-अलग होती है तो इसका मतलब यह होता है कि जब चुम्बकीय क्षेत्र आसमान होता है तो उसकी दिशा भी समान नहीं होती है लेकिन जब चुम्बकीय  छेत्र समान होता है तो उसकी दिशा एक ही होती है
आवेश स्थित अवस्था में होता है तब वह विद्युत क्षेत्र उत्पन्न करता है लेकिन जब आवेश gatisheel अवस्था में होता है तो वह चुंबकीय क्षेत्र उत्पन्न करता है
चुंबकीय क्षेत्र में kise  गतिमान avesh कण par कार्य करने वाले बल को ही चुंबकीय बल कहते हैं
माना किसे आवेश q kise चुम्बकीय क्षेत्र B में v वेग से गति कर रहा है चल रहा है अतः q आवेश par जो भी बल लगता है उसका सूत्र कुछ इस प्रकार से होगा
F=qVB
 अगर वेग V तथा चुम्बकीय क्षेत्र B के बीच एक कोंण बनता है तो  F= qVB sin थीटा होगा



यंहा पर sine थीटा के मान 90 डिग्री है तो स्थिति में बल अधिक होगा जो सूत्र निम्न वत लिखा गया है इसके आधार पर। F maximum = qvB
अगर आपको चुंबकीय छेत्र ज्ञात करना है तो es sutr  का उपयोग करेंगे
B=Fmax/qv
अगर यहां पर आवेशित कण के ऊपर 1 kulaam उपस्थिति होता है तो eska matlab मतलब यह हुआ कि आवेशित कण 1 मीटर /सेकेंड से गति कर रहा है अर्थात:- q= 1c, v=1m/s
अतः B=F होता है
अगर आप चाहे तो चुंबकीय क्षेत्र को निम्न प्रकार से भी परिभाषित किया जा सकता है
किसी स्थान पर एक मीटर प्रति सेकंड  एक कुलाम आवेशित कण को  लाने वाले बल के  parinaam को चुंबकीय क्षेत्र कहा जाता है जबकि आवेश से चुंबकीय क्षेत्र के लंबवत गतिशील है



अगर इसमें कोई पॉइंट छोड़ गया है तो आप हमें बता सकते हैं यह आपको समझ में अच्छे से आया हो तो आप कमेंट जरुर करिएगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button