Bhoutik vigyan classe 12

परावैद्युतांक किसे कहते हैं परिभाषा(Definition of what is a dielectric)

परावैद्युतांक किसे कहते हैं परिभाषा(Definition of what is a dielectric):

आपेक्षिक परावैद्युतांक क्या है,धातु का परावैद्युतांक है
परावैद्युत शक्ति एवं आपेक्षिक परावैद्युतांक को परिभाषित करें,धातुओं का परावैद्युतांक,परावैद्युतांक meaning in english,धातुओं का परावैद्युतांक कितना होता है,धातु का परावैद्युतांक होता है,परावैद्युत in english



एक बार कूलाम ने जब दो समान परिणाम वाले आवेशों को बिल्कुल एक समान दूरी पर रखा गया तथा विभिन्न माध्यमों में कार्यरत विद्युत बल का मान ज्ञात किया तो कूलाम ने उसमें यह पाया कि भिन्न-भिन्न माध्यमों में विद्युत बल का मान

अलग-अलग प्राप्त होता है हमारे कहने का मतलब है कि मतलब अलग-अलग माध्यम में तथा अलग-अलग बल का मान प्राप्त हुआ है अर्थात दोनों आवेशों के बीच का माध्यम बदलने पर विद्युत बल का मान भी बदल जाता है

कूलाम ने अपने प्रयोगों में पाया कि निर्वात में विद्युत बल का मान सबसे अधिक व कुचालक माध्यम में विद्युत बल अपेक्षाकृत कम होता है तथा दोनों आवेशों के बीच चालक माध्यम होने पर बल का 0 प्राप्त होता है

हमारे कहने का मतलब है कि जब कोला महोदय ने अपने प्रयोगों में या पाया कि निर्वात इन यानी कि वायु में विद्युत बल का मान सबसे अधिक होता है तथा कुचालक माध्यम में विद्युत बल का अपेक्षाकृत कम होता है यानी निर्वात के वायु के अपेक्षा में यहां पर कम होता है तथा दोनों आवेशों के बीच सुचालक माध्यम होने पर बल का मान सुजाता गए दोनों

आवेशों के बीच कोई सुचालक माध्यम जिसमें मुक्त इलेक्ट्रान पाए जाते हैं उसको रख दिया जाए तो उसका 0 हो जाएगा बल का मान



अतः हम यह भी कह सकते हैं कि किसी माध्यम की उपस्थिति में आवेशों के मध्य विद्युत बल निर्यात की तुलना में जितने गुनाह कम हो प्राप्त होता है उससे उस माध्यम का परावैद्युतांक  या आपेक्षिक विद्युतशीलता अथवा परावैद्युत  कहा जाता है

दूसरे शब्दों में: जब किसी माध्यम की उपस्थिति में आवेशों के बीच विद्युत बल वायु की तुलना में जितने गुना कम होता है यह जितने गुना प्राप्त होता है उससे उस माध्यम का

परावैद्युतांक कहलाता है हमारे कहने का मतलब है कि जब किसी आवेश को वायु में रखा जाता है या वायु के मध्य में रखा जाता है तो उसकी जलवायु में जितनी गुना कम होता है वही परावैद्युतांक कहलाता है

परावैद्युतांक किया आपेक्षिक विद्युतशीलता:

परावैद्युतांक किया आपेक्षिक विद्युतशीलता:

परावैद्युतांक किया आपेक्षिक विद्युतशीलता:



आता परावैद्युतांक की कोई बीमा नहीं होती है अर्थात यह बीमा विहीन राशि है इसकी कोई भी मां नहीं होती कुछ माध्यम व उनके आपेक्षिक विद्युतशीलता के मान दिया गया है आप यoहां पर अच्छे से पढ़ सकते हैं

परावैद्युतांक किया आपेक्षिक विद्युतशीलता:

 आप दोस्तों देख सकते हैं मैंने आपको बहुत ही अच्छी तरह से बताया है यह आपको समझ में ना आया हो तो आप कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते हैं

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button